Success Story: 13 बार फेल होने के बाद भी नहीं हार मनी, IAS बनकर युवाओं को दिया सफलता का मंत्र

Success Story: आज हम आपको सफलता की एक ऐसी कहानी बताने जा रहे हैं जिसमें एक व्यक्ति ने दस बार असफल होने के बाद भी हार नहीं मानी और आज IAS बन गया।

आइए आज जानते हैं उनके द्वारा बताए गए कुछ सफलता मंत्र।  छत्तीसगढ़ के 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश कुमार ( IAS Awanish शरण ) शरण भारतीय प्रशासनिक सेवा (यूपीएससी) परीक्षा में सफलता का मंत्र देने के लिए चर्चा में हैं।

अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर उन्होंने देश की सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षा को क्रैक करने के लिए पांच टिप्स दिए हैं। जिसे इंटरनेट मीडिया पर तेजी से प्रसारित किया जा रहा है। यूपीएससी की तैयारी के लिए कौन सा न्यूज पेपर पढ़ना है और क्या पढ़ना है, इसकी जानकारी उन्होंने साझा की है।

Newspaper पढ़ने पर जोर दिया जोर

अवनीश के अनुसार सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए राष्ट्रीय स्तर का एक ही हिंदी या अंग्रेजी का अखबार पढ़ें। उन्होंने संपादकीय पृष्ठ पर ध्यान केंद्रित करने की बात कही। अधिकतम एक से दो घंटे पढ़ें। कागज से नोट्स बनाने की आदत न डालें। मासिक पत्रिका (क्रॉनिकल या दर्पण) के साथ प्लान, फ्रंटलाइन पढ़ें।

IAS बनने का सफर साझा किया

ट्वीट में अवनीश ने आईएएस बनने के अपने सफर को भी बखूबी बयां किया है। उन्होंने बताया कि वह राज्य सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा में 10 से अधिक बार फेल हो चुके हैं. वह एक सामान्य छात्र रहा है जिसे परीक्षाओं में बहुत अधिक अंक नहीं मिले हैं।

उसे 10वीं में 44.7 फीसदी, 12वीं में 65 फीसदी और ग्रेजुएशन में 60 फीसदी अंक मिले हैं. इसके अलावा सीडीएस में फेल, सीपीएफ में फेल और यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में इंटरव्यू पहले प्रयास में और दूसरे प्रयास में अखिल भारतीय रैंक 77 है।

अब संभाली जा रही तकनीकी शिक्षा की जिम्मेदारी

आईएएस अवनीश वर्तमान में छत्तीसगढ़ में तकनीकी एवं रोजगार विभाग का निदेशक के पद पर कार्यरत हैं। दैनिक जागरण के सहयोगी प्रकाशन नईदुनिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि यूपीएससी में सफलता पाने के लिए उम्मीदवार सालों मेहनत करते हैं ।

इसमें कुछ सौ ही ऐसे होते हैं, जो सफल होकर आगे बढ़ पाते हैं। उन्होंने कहा कि लगातार पढ़ाई में लगे रहने से सफलता मिलती है।

4 साल पहले बिजनेस की शुरुवात की थी, भयंकर आईडिया था, आज 14 हज़ार करोड़ की कंपनी बनी

Leave a Comment

Join Whatsapp