परिंदे की तरह दौड़ेगी नई टेक्नोलॉजी, बार बार क्लच दबाने की जरूरत नहीं

बाइक चलाते समय भारी ट्रैफिक के समय सबसे ज्यादा जोर  हाथ और पैर पर देखने को मिलता है। इसमें सबसे बड़ा कारण क्लच और गियर। शहरी ट्रैफिक के बीच बाइक राइडिंग के दौरान गियर बदलते वक्त बार-बार क्लच को प्रेस करना काफी मुसीबत वाला कहां होता है। बहुत जल्दी परेशानी से आराम मिलने वाला है।

नई टेक्नोलॉजी पर हो रहा काम

होंडा कंपनी एक बहुत ही ई क्लच टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है। इसमें ऑटोमेटिक क्लच सिस्टम का इस्तेमाल किया गया। यह मोटरसाइकिल को क्लच लेस गियर शिफ्टिंग की सुविधा देगा। यानी के पारंपरिक बाइक ड्राइविंग सिस्टम का पूरा तरीका बदल जाएगा। यह तकनिक काफी हद तक आईएमटी गियरबॉक्स के समान है।

यहां पर क्लच को एक्टिव या फिर इन एक्टिव करने के लिए गियर लेवल पर स्थित इंटेलिजेंट इंटेंशन सेंसर का इस्तेमाल करता है। हालांकि होंडा अपने इस टेक्नोलॉजी में क्लच को शामिल करेगा। लेकिन वह बस दिखाने के लिए दिया जायेगा। होंडा का दावा है की मल्टी गियर मोटरसाइकिल ट्रांसमिशन के लिए दुनिया का पहला ऑटोमेटिक क्लच कंट्रोल सिस्टम है।

मोटरसाइकिल ट्रांसमिशन में किया जाएगा

इसका इस्तेमाल मल्टी गियर मोटरसाइकिल ट्रांसलेशन में किया जाएगा। टेक्नोलॉजी को तैयार करने का मुख्य उद्देश्य यही है कि  बिना क्लच के इस्तेमाल के  मोटरसाइकिल राइडिंग को आसान बनाया जाए। यह तकनीक डेली कम्यूटर की दुनिया के लिए  किसी वरदान से काम नहीं होगी।

कहां जा रहा कि यह मैन्युअल क्लच ऑपरेशन की तुलना मे ज्यादा कंफर्टेबल है और गियर सिस्टम को और भी ज्यादा आसान बनाता है। ई क्लच सिस्टम में किसी भी मोटरसाइकिल की तरह एक मैन्युअल क्लच लीवर ही मिलेगा लेकिन यह ऑटोमेटिक तरीके से काम करेगा। ऑटोमेटिक के साथ-साथ मैन्युअल ऑपरेट किया जा सकता है। अच्छी बात यह कि चालक को गियर बदलते समय बार-बार क्लच दबाने की जरूरत नहीं है। खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment

Join Whatsapp